उठो और लड़ो


उठो और लड़ो,
इसलिए नहीं की ,
तुम किस्मत के धनी हो.
उठो और लड़ो ,
इसलिए की तुम,
सत्य के साथी हो.
उठो और लड़ो,
इसलिए नहीं की,
तुम सत्ता के पुजारी हो.
उठो और लड़ो,  परमित
इसलिए की तुम,
सत्य के सिपाही हो……

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s